Covid-19 test in India: वर्ष 2019 में चीन से निकली कोरोना, महामारी से बड़ी ही तेजी से सम्पूर्ण विश्व को अपने कब्ज़े में ले लिया और देखते ही देखते ही करोड़ो की संख्या में लोग संक्रमित होने लगें| वर्तमान वर्ष में भी इस महामारी की दूसरी लहर ने और भी तेजी से अपना विकराल रूप दिखाया| ऐसे में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सभी राज्य सरकारों से गावों पर फोकस करने को कहा है| उन्होंने स्पष्ट तौर पर कहा है कि सभी राज्यों के मुखिया अपने राज्य के गावों पर फोकस करें और इस महामारी को गाँवों में फैलने से येन केन प्रकारेण रोके, क्योंकि शहरों की अपेक्षा गाँवों में संसाधनों की गंभीर रूप से कमी रहती है| जैसा की हम सभी अब तक जान ही चुके है कि इस महामारी से लड़ने का सबसे उत्तम उपाय है ज्यादा से ज्यादा टेस्टिंग| अपने शनिवार के संबोधन में भी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने डोर टू डोर टेस्टिंग किये जाने पर ज़ोर दिया है| परन्तु इसके लिए सबसे महत्वपूर्ण है किफायेती जांच व्यवस्था|

ऐसे गंभीर समय का जवाब अब मुंबई में तैयार की गई नई कोरोना जांच किट (Rapid Antigen Test Kit) वास्तव में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकती है|विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय के अंतर्गत डीएसटी की मदद से मुंबई की स्टार्टअप पतंजलि फार्मा ने एक बेहद ही किफायती किट तैयार की है| ऐसे में अगर देखा जाए तो RTPCR जो की वर्तमान में उपलब्ध सबसे कारगर test किट है का ही पूरक होगा|

छोटा सा खर्च, 15 मिनट में रिपोर्ट

मुंबई की स्टार्टअप पतंजलि और आइआईटी बॉम्बे के सम्मिलित प्रयासों से तैयार रैपिड एंटीजन टेस्ट किट ना सिर्फ बेहद ही सस्ती है बल्कि बड़ी ही तेजी से विश्वस्निए रिजल्ट भी देने में कारगर है| इस covid test किट की प्रति सैम्पल मात्र 100 की कीमत पर उपलब्ध है और मात्र 10-15 मिनट के अन्दर ही सही और विस्वश्निये रिजल्ट भी देती है|

इसे भी पढ़ें- 5G टेस्टिंग से फैल रहा कोरोना और 5G से इंसानों पर बढ़ जाएगा खतरा?

इसे भी पढ़ें- WhatsApp और Telegram से लगेगी वैक्सीन!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here