Ddurlabh Kashyap Wikipedia In Hindi
Ddurlabh Kashyap Wikipedia In Hindi
Advertisement

मध्य प्रदेश : दुर्लभ कश्यप मध्य प्रदेश के उज्जैन जिले का रहने वाल था दुर्लभ कश्यप का जन्म 08 नवंबर 2000 को उज्जैन, मध्य प्रदेश में हुआ था। दुर्लभ कश्यप की मृत्यु 06 सितंबर 2020 को हुआ था 06 सितंबर की रात तक़रीबन 2 बजे हेलावाड़ी क्षेत्र में एक गैंगवार के दौरान हो गई थी दुर्लभ कश्यप की हत्या उसकी पुरानी रंजिश के कारण हुई थी जब दुर्लभ कश्यप हेलावाड़ी में मौजूद एक चाय की दुकान पर चाय पि रहा था तभी गैंगवार में शाहनवाज और शादाब द्वारा कश्यप को चाकू से गोदकर-गोदकर उसकी हत्या कर दी गई थी। Ddurlabh Kashyap Wikipedia In Hindi

उस घटना में दुर्लभ कश्यप का एक साथी भी जख्मी हो गया था जिसे इंदौर के एक अस्पताल में उपचार के लिए रैफर कर दिया गया था

Advertisement

दुर्लभ कश्यप कौन था? Ddurlabh Kashyap Wikipedia In Hindi

दुर्लभ कश्यप जीवाजीगंज के अब्दालपुरा निवासी मनोज कश्यप का पुत्र था दुर्लभ की माता उज्जैन के क्षीरसागर क्षेत्र में पूर्व स्कूल टीचर रह चुकी है पिता मुंबई में नौकरी के बाद इंदौर शिफ्ट हुए है दुर्लभ एक संभ्रात परिवार का लड़का था दुर्लभ कश्यप को बिल्लीयो से बहुत प्यार था उसे बिल्ली पलने का काफी शौख था

इसे भी पढ़े: पटना में 45 लाख रुपये की लूट,पूर्व मंत्री वीणा शाही के…

कश्यप शोसल मीडिया का पूरा उपयोग करता था यहाँ तक की वह फेसबुक पर ही रंगदारी और सुपारी लेता था फेसबुक पर कश्यप का पोस्ट देख कर कई युवा उस से प्रभावित हो जाये थे और उसके गैंग को ज्वाइन कर लेते थे अपने इस गैंग को दुर्लभ अपराध करवाता था दुर्लभ की गैंग में लगभग 100 से ज्यादा युवा जुड़े गये थे जो रंगदारी, हफ्ता वसूली, लूटपाट जैसे अपराध को अंजाम देते थे जब इसकी जानकारी तत्कालीन एसपी सचिन अतुलकर को लगी तब उन्होंने कश्यप की गैंग का पर्दाफास करते हुए उस गैंग के दो दर्जन से अधिक लड़के की गिरफ्तार कर लिया था

कश्यप की पूरी गैंग का ड्रेस कोड भी स्पेशल था

आप को ये जान कर हैरानी होगी की दुर्लभ कश्यप की गैंग का ड्रेस कोड एक दम अलग था कश्यप के गैंग मेम्बर के माथे पर टिका,आँखो में काजल और गले में काला कपडा होता था शायद यह भी एक वजह हो सकता है जिसके कारन युवा उस के मुरीद हो जाने का दुर्लभ कश्यप अपने फेसबुक प्रोफाइल पर स्टेटस में कुख्यात बदमाश, हत्यारा और कोई सा भी विवाद हो कैसा भी विवाद हो तो मुझे संपर्क करे जैसे स्टेटस लगा रखा था इसके अलावा प्रोफाइल फोटो में हथियारों के साथ और धमकाने और दहशत फ़ैलाने वाले पोस्ट डाला करता था

वह अपने गैंग के लोगो के सभी फेसबुक आईडी को मैनेज करने के लिए एक टीम भी बना रखा था जो दहशत और डर फैलाने वाले पोस्ट करते थे यहाँ तक की इस फेसबुक आईडी से जेल में बंद अपराधियों की भी फोटो पोस्ट किये जाते थे ,

 

इसे भी पढ़े

Advertisement

4 COMMENTS

  • Online Free MockTest (हिंदी में)
    Most important for :- SSC || Railway || NTPC || CHSL || Bank || GD || Group – D and all OneDay exam

  • LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here