RBI ने लगाया मास्टरकार्ड पर प्रतिबन्ध, अब नहीं कर पाएंगे उपयोग !
RBI ने लगाया मास्टरकार्ड पर प्रतिबन्ध, अब नहीं कर पाएंगे उपयोग !

इंडिया : आज के समय में इंडिया में ऐसे ही कुछ ही व्यक्ति होंगे जिनके पास अपना बैंक अकाउंट नहीं होगा अगर आपके पास अपना बैंक अकाउंट है तो आपके पास डेबिट कार्ड भी उपलब्ध जरूर होगा क्या आप जानते हैं की आपके पास जो डेबिट कार्ड है वह किस पेमेंट नेटवर्क प्रोवाइडर का है अब ऐसे में कुछ लोग कहेंगे कि यह पेमेंट नेटवर्क क्या होता है मुझे तो मेरा डेबिट कार्ड मेरे बैंक द्वारा दिया गया है और यहाँ डेबिट कार्ड मेरे बैंक का है 

ऐसे में हम आपकी जानकारी के लिए बता दें आपका डिबेट कार्ड या क्रेडिट कार्ड जो भी बैंक द्वारा जारी किया जाता है उसकी सारी लेनदेन की जिम्मेदारी पेमेंट नेटवर्क की होती है मुख्य रूप से इंडिया में पेमेंट नेटवर्क तीन है VISA, Mastercard और अपने इंडिया का RUPAY जो NPCI (National Payments Corporation of India) के अधीन काम करता है  

अब इसी बीच बड़ी खबर आ रही है कि इंडिया में Mastercard को 22 जुलाई -2021 से बैन कर दिया गया है लेकिन हम बता दें इस खबर को पढ़ने के बाद मास्टर कार्ड के उपभोक्ता को डरने की कोई जरूरत नहीं है क्योंकि आरबीआई ने स्पष्ट किया है कि जो मौजूदा मास्टरकार्ड ग्राहक है उनके कार्ड पर इस बैन का कोई भी असर नहीं होगा जब तक आपके कार्ड की वैलिडिटी है तब तक आप इस मास्टर कार्ड का उपयोग कर सकते हैं लेकिन अब जब आप बैंक जाकर नए मास्टर कार्ड का रिक्वेस्ट देंगे तो बैंक मास्टर कार्ड का रिक्वेस्ट नहीं लेगी उसके बदले आपको VISA, या RUPAY कार्ड उपलब्ध करवाया जाएगा

Mastercard पाटमेंट नेटवर्क क्या होता है 

कोई भी बैंक डेबिट या क्रेडिट कार्ड अपने ग्राहक को जारी करता है तो वो किसी ना किसी पेमेंट नेटवर्क की द्वारा ही जारी किया जाता है जैसे कि VISA, Mastercard, RUPAY ऐसे में सवाल उठता है कि बैंक पेमेंट नेटवर्क की सहायता क्यों लेते हैं क्या बैंक खुद डेबिट कार्ड क्रेडिट कार्ड अपने ग्राहकों को उपलब्ध नहीं करवा सकती है क्या !

तो इसका जवाब है नहीं क्योंकि बैंक जब भी कोई डेबिट या क्रेडिट कार्ड उपलब्ध करवाता है तो उसे पेमेंट नेटवर्क की सहायता लेनी होती है पेमेंट नेटवर्क का काम होता है कि आपके बैंक और आपके कार्ड के द्वारा जो भी ट्रांजैक्शन हो रहे हैं उस ट्रांजैक्शन की वेरीफाई और सही पेमेंट हो इसकी देखभाल पेमेंट नेटवर्किंग होती है जो कि यह काम बैंक नहीं करता है

उदाहरण के लिए आप अगर 1000 रुपए का पेट्रोल ले रहे हैं और आप पेट्रोल पंप को 1000 रुपए का पेमेंट करते हैं तो यही पर पेमेंट नेटवर्क काम करता है आप के पेमेंट को पूरा करने के लिए जब आप पेमेंट करने के लिए स्वीविंग मशीन में कार्ड डालते है तब मर्चेंट से पेमेंट नेटवर्क को रिक्वेस्ट भेजता है अब पेमेंट नेटवर्क आप के बैंक से कन्फर्म करेगी की आप ने जो पिन डाला है और आप ने अमाउंट एंटर किया है क्या आप का डाला गया पिन सही है या नहीं और आप से बैंक अकाउंट में पर्याप्त बैलेंस है अगर आप का पिन और डाला गया अमाउंट सही होता है तो पेमेंट सफलतापूर्वक हो जाती है अब आप के बैंक अकाउंट से पैसा डेबिट हो कर पेट्रोल पंप वालो का जो भी अकाउंट हो गा उसे ये बैलेंस क्रेडिट कर दिया जाता है 

Mastercard को इंडिया में बैन क्यों किया गया !

आरबीआई द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार मास्टर कार्ड में कुछ डाटा की गड़बड़ी पाई गई है जिसके वजह से आरबीआई ने 22 जून 2021 से मास्टरकार्ड को इंडिया में बैन कर दिया है आरबीआई ने इसकी जानकारी 14 जुलाई 2021 को प्रेस कॉन्फ्रेंस करके पूरे इंडिया को बताया था यह स्पष्ट नहीं हुआ है कि मास्टर कार्ड के डाटा में ऐसी क्या गड़बड़ी पाई गई है जिसके वजह से मास्टर कार्ड को इंडिया में बैन कर दिया गया है हालांकि यह बैन लाइफटाइम के लिए है या कुछ समय के लिए यह भी अस्पष्ट नहीं है

 

Mastercard India ने ट्वीट कर के जानकरी दी !

इसी बीच मास्टरकार्ड ने ट्वीट करके इस मुद्दे पर जानकारी दी है मास्टर कार्ड ने कहा है कि हम समझ सकते हैं कि आपके मन में यह सवालआ रहा होगा कि क्या मैं अपने मौजूदा मास्टर कार्ड को यूज़ कर सकता हूं ! जी हां आप अपने मौजूदा मास्टर कार्ड को यूज कर सकते हैं आप पहले की तरह ही ऑनलाइन यूज कर सकते हैं किसी स्टोर पर यूज कर सकते हैं इंडिया और इंटरनेशनल भी यूज कर सकते हैं जितने भी मौजूदा मास्टरकार्ड ग्राहक हैं वह वैसा ही सिक्योरिटी के साथ आप मास्टरकार्ड हमेशा यूज कर सकते हैं। 

  

इसे भी पढ़े: बॉलीवुड अभिनेत्री शिल्पा शेट्टी के पति और बिजनेसमैन राज कुंद्रा को…

इसे भी पढ़े: Amazon Prime Day 2021: ऑनलइन शॉपिंग करने वालो के लिए खुश…

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here